Third Rolling Support for Bulk Kart : दुनिया का 1 अनोखा जुगाड़ सारथी बेलो के लिए बना वरदान

दोस्तों मेरा देश भारत कृषि प्रधान देश है जहा पर कई तरह की किसानो के द्वारा खेती की जाती है खेती के लियें कई तरह के संसाधनों का उपयोग किया जाता है जिसमे एक किसानो का सच्चा साथी बेल गाड़ी Bulk Kart भी शामिल है आज वर्तमान में तो बेल गाड़ी का चलन बहुत कम देखने को मिलता है कारण कई सारे लोडिंग वाहनो का उपयोग करने लग गए है |

लेकिन मै आज आपको ले जा रहा हूँ महारास्ट्र और उत्तर प्रदेश राज्य में जहा होती है भारी मात्रा में गन्ने की खेती गन्ने को खेत से काटकर शक्कर के मिल तक पहुँचाने का कार्य होता है वह बेलो से चलने वाली बेल गाड़ी Bulk Kart के द्वारा जहा आप देखते है की इतने सारे भारी भरकम वजन को बेलो के द्वारा उठा कर बेल गाड़ी को खींचना कितना मुश्किल होता है !

कई बार वजन के कारण बेलो के पैर  फिसलने से चोट आ जाती है लेकिन कई पीढियों से बेल किसानो के सच्चे साथी बनकर साथ निभा रहे है इस समस्या का समाधान हुआ है Third Rolling Support for Bulk Kart  जिसे मराठी में “ सारथी ” जुगाड़ के द्वारा आइये जानते है पूरी जानकारी –

क्या है ऐसा जुगाड़ जो रातो रात हुआ वायरल

आज की कहानी है महारास्ट्र के उस कोलेज इंजिनियर विद्यार्थियों की है जिन्होंने आवश्यकता को आविष्कार की जननी साबित करके दिखाया है महारास्ट्र के सांगली जिले के  Rajarambapu Institute of technology ( RIT) राजा राम नगर कोलेज के ऑटोमोबाइल संकाय के 5 विद्यार्थियों ने बेलो के लिए बनाया है गजब का जुगाड़ जिससे अब बेलो के कंधो पर जो वजन आता है वह अब इस जुगाड़ के उपर आयेगा इस जुगाड़ का नाम दिया है Third Rolling Support for Bulk Kart  जिसे मराठी में “ सारथी ” नाम दिया

Bulk Kart
Third Rolling Support सारथी के साथ बेल गाड़ी Bulk Kart

कोन है सारथी का आविष्कार करने वाले

महारास्ट्र के सांगली जिले के Rajarambapu Institute of technology ( RIT) राजा राम नगर कोलेज के ऑटोमोबाइल संकाय के 5 विद्यार्थियों ने मिलकर सारथी का आविष्कार किया जिसमे इस प्रोजेक्ट के टीम लीडर सौरभ भोसले एव चार टीम सदस्य आकाश, निखिल, ओमकार एव आकाश गैइकवाड है|

इन्होने ने बताया की हम जिस कोलेज में पढाई करते है उसके पास ही शक्कर के कई सारे मिल है है आये दिन देखते है की शक्कर मिल तक गन्ने की भरी कई सारी बेल गाड़िया निकलती है जिसमे बेल परेशान होते हुए दिखाई देते है हमने थोड़ी इसके लिए खोज बीन की कैसे इन बेलो के कंधो पर गिर रहा वजन को कम कर सकते है और अंत में हमने यह एक जुगाड़ की तरह बनाकर बेल गाड़ी में लगाया तो यह पूरी तरह सफल रहा !

बेलगाडी सारथी के साथ कीं चलाता हुआ

सारथी में क्या तकनिकी का उपयोग किया

टीम ने बताया की जब भी बेलगाडी भारी वजन के साथ रहती है तो इसका पूरा अजान दोनों बेलो पर गिरता है तो हमने थोड़ी इन्जीनियरिंगके साथ यह तय किया की हमें किस जगह पर तीसरा सप्पोर्ट देना है जिससे बेलो के कंधे का वजन कम हो जाये अंत में हमने बेलगाडी के आगे की तरफ दोनों बेलो के कंधो के उपर रखे जाने वाले जुड़े के बिच में यह सेट किया इसमें हमने यह सुविधा प्रदान की जिससे यदि बेलो की साइज़ छोटी बड़ी है तो भी इसे सेट कर सकते है

साथ ही यदि आपको इसे यहाँ से हटाना है तो भी आप बेलगाडी से आसानी से हटा सकते है  और इसमें उपर की तरफ के नट को खोलकर उपर इसे लटका भी सकते है और निचे की साइड में हमने एक पहिया लगाया है जिसकी एक खास विशेषता है की यह आसानी से सड़क एव खेतो में भी चल सकता है

दोस्तों मुझे तो यह जुगाड़ बहुत अच्छा लगा है आपको कैसा लगा कमेन्ट करके जरुर बताए यदि आपके पास कोई एसी ही रोचक जानकारी हो तो आप हमें इमेल की सहायता से भेज सकते है techmewadi@gmail.com आप हमारे  Instagram @inf_techmewadi पर भी अपनी राय दे सकते है !

सच्चा कम वही कहलाता है जो देश के लिए काम आये

धन्यवाद  

Tech Mewadi   

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: