Solar Tree : सोलर का पेड़ क्यो लगाये ? सम्पूर्ण जानकारी


सोलर उर्जा का उपयोग आज भारत में काफी बढ़ने लगा है | तथा भविष्य में भी इसके काफी बढ़ने के आसार है | लोग पेट्रोलियम या हाइड्रोलिक उर्जा से अब सोलर उर्जा की ओर बढ़ रहे है | इसी दिशा में भारत के वैज्ञानिक नए नए अविष्कार कर रहे है | ऐसा ही एक अविष्कार है सोलर ट्री | जिसे केन्द्रीय मेकेनिकल इंजीनियरिंग रिसर्च अनुसन्धान (CMERI) द्वारा बनाया गया है | जो की पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर में स्थित है |

सोलर पॉवर ट्री क्या है ?


सोलर पॉवर ट्री वह स्ट्रक्चर होता है जिसे एक पेड़ की तरह डिजाइन किया जाता है तथा जिसकी शाखाएँ स्टील की होती है तथा उन पर सूर्य के प्रकाश से वोल्टेज या बिजली बनाने वाले सोलर पैनल लगे होते है |

सोलर पॉवर ट्री कैसे बनाया जाता है


सोलर ट्री की ऊंचाई लगभग 25 से 30 फीट तक हो सकती है | और एक सोलर पॉवर ट्री से 5 से 7 किलोवाट तक बिजली उत्पादन हो सकता है | इसमें लगे हुए सारे PV पैनल्स वर्टिकली लगे हुए होते है | इसमें लगी हुई स्ट्रक्चर की शाखाएँ स्टील की बनी हुई होती है |
यानि की एक सोलर ट्री इंस्टालेशन के लिए केवल 4 sq. ft जमीन की जरुरत होती है |

दुनिया का सबसे बड़ा सोलर पॉवर ट्री कहाँ पर बना ?


दुनिया का सबसे बड़ा सोलर पॉवर ट्री केन्द्रीय मेकेनिकल इंजीनियरिंग अनुसन्धान संस्थान दुर्गापुर (CSIR-CMERI) द्वारा तैयार किया गया है | जो कि पश्चिम बंगाल में स्थित है | यह सोलर ट्री CSIR-CMEIR की एक आवासीय कॉलोनी में स्थापित किया गया है | इस सोलर पॉवर ट्री की क्षमता 11.5 किलोवाट से भी ज्यादा है | तथा 12000 से 14000 यूनिट अधिक बिजली प्रति वर्ष तैयार कर सकता है |
इस सोलर वृक्ष के बारे में जानकारी देते हुए CSIR-CMERI के निदेशक प्रो. हरीश हिरानी ने बताया कि इसमें 330 वाट के कुल 35 सोलर PV पैनल लगे हुए है | हर पैनल इस तरह से लगा हुआ है कि वह सूर्य से आने वाली किरणों को अधिकतम अवशोषित कर सके | इसमें लगे हुए स्टील के ब्रान्चेस लचीले तथा मजबूत है जो आंधी तुफानो में टूटते नहीं है | इन्हें जरुरत के हिसाब से उपर नीचे किया जा सकता है | तथा मोड़ा भी जा सकता है |
इस सोलर ट्री के पैनल्स की साफ सफाई के लिए हर पैनल के उपर पानी के फव्वारे लगाये गए है जिससे इसके उपर लगी हुई धुल को समय समय पर साफ किया जा सकता है |

एक सोलर ट्री एक दिन में कितनी बिजली उत्पादित करता है |


सोलर ट्री का बिजली उत्पादन इसकी क्षमता पर निर्भर करता हैं | यदि हम एक सामान्य सोलर ट्री की बात करे तो यह 7 किलोवाट तक की क्षमता में होता है | तथा यह प्रति दिन 30 से 35 यूनिट तक बिजली उत्पादन कर सकता है | एक सामान्य परिवार की एक दिन बिजली खपत 5 से 7 यूनिट प्रतिदिन होती है | यानि की 28 यूनिट तक की बचत हो जाती है जिसे वह बिजली कंपनियों को देकर आसानी 200 रुपये प्रतिदिन कमा सकते हैं |

सोलर ट्री क्यों लगाये जाते है ?


सामान्यतया सोलर ट्री ऐसी जगह पर लगाये जाते है जहाँ पर रूफ टॉप स्पेस की कमी होती है | तो वहाँ पर पर्याप्त जगह न मिलने के कारण सोलर ट्री एक अच्छा विकल्प होता है |


सोलर ट्री कई किसान अपने खेत पर भी लगवाते है ताकि सामान्य सोलर सिस्टम की स्ट्रक्चर जो जगह घेरती है उस जगह को किसान उपयोग में ले सके है | वहाँ पर किसान खेती कर सकता है तथा बागवानी भी कर सकता है |
तो कुल मिलाकर बात यही है कि जहाँ पर हमे सामान्य सोलर सिस्टम के लिए जगह उपलब्ध नहीं होती है वहाँ पर सोलर ट्री इनस्टॉल किये जा सकते है |

सोलर ट्री लगाने के क्या क्या फायदे है !


सोलर ट्री को लगाने के कई सारे फायदे है |


सोलर ट्री कृषि में मददगार साबित हो सकता है | इसकी मदद से ई ट्रैक्टर, तथा बिजली चालित कल्टीवेटर तथा टिलर व उच्च क्षमता वाले पानी के पम्पो को चलाया जा सकता है |


हर एक सोलर ट्री से लगभग 10 टन कार्बन डाई ऑक्साइड(CO2) के उत्सर्जन को रोक सकते है तथा जलवायु परिवर्तन को रोक सकते है |


इसे बहुत कम जगह में लगाया जा सकता है |
इसे नदी, सडक, तथा समुद्र के किनारे इस सोलर पॉवर ट्री को लगाया जा सकता है |
सोलर ट्री के पैनल अधिक ऊंचाई पर लगे होने के कारण सूर्य से आने वाली किरणों को सामान्य सोलर सिस्टम की तुलना में ज्यादा अवशोषित कर पाते है जिससे सोलर पावर ट्री से सामान्य सोलर सिस्टम की तुलना में 10 % ज्यादा बिजली प्राप्त होती है |
सोलर पॉवर ट्री को ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्र दोनों में लगा सकते है |

सोलर पॉवर ट्री तथा सामान्य सोलर सिस्टम की कीमत में अंतर


यदि हम एक सामान्य सोलर सिस्टम की तुलना इसकी कीमत की बात करें तो इसकी कीमत सामान्य सोलर सिस्टम की तुलना में 5 % ज्यादा होती है | क्योंकी इसमें सोलर ट्री की ब्रान्चेस की स्ट्रक्चर स्टील से बनी हुई होती है | जिससे यह मजबूत होता है तथा थोडा महंगा होता है |

तो इस तरह कुल मिलाकर निष्कर्ष यही निकलता है कि सोलर ट्री ग्रामीण तथा शहरी दोनों क्षेत्रो के लिए महत्वपूर्ण है | तथा सोलर ट्री से हमें कई फायदे होते है |

यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई है तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करे ताकि यह अन्य लोगो तक भी पहुँच सके | धन्यवाद |

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: