Pure Honey शहद की असली व नकली की पहचान ऐसे करो बाप-दादा के देशी तरीके !! – Kheti Kisani……..


साथियों आज हम बात करने वाले है शहद के बारे में | हमने पिछले आर्टिकल में भी आपको बताया था तथा यह सभी को पता होता है कि शहद केवल मधुमक्खियों द्वारा ही बनाया जाता है | तथा वही असली शहद होता है | लेकिन आजकल बाज़ार में शहद में मिलावट करके कम्पनियां शहद बेच रही है तथा लोगो की सेहत के साथ खिलवाड़ कर रही है |
आज हम शहद की पहचान करने के ऐसे तरीको के बारे में बात करने वाले जो बिलकुल देसी नुस्खे है | तथा इन तरीको से आप मात्र कुछ ही सेकेंड में पता लगा सकते है कि यह शहद असली है या नकली | तो आइये जानते है इन नुस्खो के बारे में |


कागज के द्वारा


हम असली व नकली शहद की पहचान एक साधारण कागज से भी कर सकते है | इसके लिए आपको बस एक कागज लेना है और उस पर आप बाज़ार से या किसी मधुमक्खी पालक से या कही से भी शहद लाए हो उस शहद को उस कागज पर डालिए | अगर असली शहद होगा तो कागज गीला नहीं होगा | अगर इस शहद म कोई मिलावट होगी तो कागज पीछे की साइड से गिला हो जाएगा | इसका मतलब वह नकली शहद है |
मित्रों आप कागज पर कितनी भी मात्रा में शहद डालिए तथा आप भले ही इसे कागज पर आधा घंटा या 24 घंटे रख कर देखिये वह कागज गीला नहीं होगा | इसका मतलब वह असली शहद है |

सामान्य मिट्टी के द्वारा


आप असली व नकली शहद की पहचान मिट्टी से भी कर सकते है | इसके लिए आप थोड़ी मिट्टी अपनी हथेली पर लीजिये फिर इस पर थोडा शहद डालिए | आप देखेंगे कि आपने जो शहद डाला है वह शहद उस मिट्टी में मिला नहीं है बल्कि एक बूंद की तरह बन चूका है जिस पर मिट्टी के कण चिपके है | इस तरह यह मिट्टी में नहीं मिलने वाला शहद ही असली शहद होता है | अगर यह मिट्टी में मिल जाता है तो इसका मतलब यह नकली शहद है |

माचिस की तिल्ली से


, आप असली व नकली शहद की पहचान माचिस की तिल्ली के द्वारा भी कर सकते है | इसके लिए आपको माचिस की तिल्ली को शहद में डुबोना है , तथा इसके बाद इसे जलाना है | अगर माचिस की शहद में डुबोई गई तिल्ली जल जाती है तो इसका मतलब वह असली शहद होगा | लेकिन अगर माचिस की तिल्ली नहीं जलती है इसका मतलब उस शहद में मिलावट है | यानि कि असली शहद जलता भी है |

अपने कपड़ो से


अगर आपको असली व नकली शहद की पहचान करनी है तो इसका सबसे आसान तरीका यही है | आप थोडा सा शहद को अपने कपड़ो पर डालिए | शहद बूंद बूंद के रूप में फिसलता हुआ आपके कपड़ो से नीचे गिर जाएगा, लेकिन आपके कपड़ो से नहीं चिपकेगा | अगर शहद में किसी भी प्रकार की थोड़ी सी भी मिलावट है तो शहद आपके कपड़ो पर चिपक जाता है | इस प्रकार असली व नकली शहद की पहचान हो जाती है |

निष्कर्ष


तो साथियों देखा आपने कैसे हम असली व नकली शहद की पहचान इन पौराणिक तरीको से आसानी से कर सकते है | जो हमारे दादा परदादा अपनाते थे |

आसान भाषा में समझने के लिए यह विडियो देखे


साथियों इन देसी नुस्खो से हम सभी प्रकार के शहद की जाँच कर सकते है | अगर शहद में 1 % भी सिरप या किसी अन्य प्रकार की मिलावट है तो हम इन नुस्खो से नकली शहद की पहचान कर सकते है | जो मेडिकल साइंस भी नहीं कर पाती है |

आशा करते है कि आप शहद किसी मधुमक्खी पालक से ही खरीदेंगे क्योंकी वही असली शहद आप तक पहुँचाते है | किसी कंपनी या ब्रांड का शहद अगर आप खरीद रहे है तो एक बार हमारे बताये हुए नुस्खो से उस शहद की जाँच अवश्य कर लेवें, धन्यवाद |

Gamer Singh Ranawat

Tech Mewadi Team

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: