PM Kusum Yojana : जानें क्या है PM कुसुम योजना ? 90 % सब्सिडी पर लगवाये सोलर फर्जीवाड़ा से सावधान !!

केंद्र सरकार की यह योजना किसानो की सिंचाई की समस्या को निजात देती है इसके अंतर्गत किसान 90 प्रतिशत सब्सिडी पर सौर उर्जा लगवाकर खुद बिजली का उपयोग कर सकता है और बची हुई बिजली विभग को देकर पैसा कमा सकता है

क्या है प्रधानमंत्री कुसुम योजना

केंद्र की मोदी सरकार ने दिनांक – 8 मार्च 2019 के आम बजट के दौरान कुसुम योजना “किसान उर्जा सुरक्षा और उत्थान महाअभियान” की घोषणा की थी. इस योजना की शुरुआत किसानों की आय बढ़ाने व कृषि क्षेत्रों में सिंचाई के लिए उपयोग होने वाले सभी डीजल या बिजली के पंप को सौर उर्जा से चलाने के लिए की गई थी.

इसके अंतर्गत किसानो को 90% सोलर पर सब्सिडी का प्रावधान दिया जाता है| इसमें 30% केंद्र सरकार, 30% राज्य सरकार वहन करती है, तथा 30% वित्तीय लोन तथा बाकि बचा 10% किसान को देना होता है|

इस योजना में 2019 से 2021 तक 2600 मेगावाट क्षमता के विकेंद्रिकृत सौर उर्जा संयत्र की स्थापना की घोषणा की गयी

पीएम कुसुम योजना के तीन कंपोनेंट  

पीएम कुसुम योजना के तीन घटक हैं और  इन घटकों के तहत वर्ष 2022 तक 30.8 गीगावाट की अतिरिक्त सौर क्षमता प्राप्त करने का लक्ष्य रखा गया है।

कंपोनेंट  A :  भूमि पर स्थापित 10,000 मेगावाट के विकेंद्रीकृत ग्रिडों को नवीकरणीय 2 मेगावाटऊर्जा संयंत्रों से जोड़ना।

 कंपोनेंट  B : 17.50 लाख 7.5 एचपी सौर ऊर्जा चलित कृषि पंपों की स्थापना।

कंपोनेंट  C : 10 लाख ग्रिड से जुड़े 7.5 एचपी सौर ऊर्जा च लित कृषि पंपों की स्थापना करना ।

इस योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा कुल 34,000 करोड़ रुपए की वित्तीय सहायता उपलब्ध कराई जाएगी।

योजना के फर्जीवाडे से सावधान

इस योजना आवेदन किसी भी लोकल ऑनलाइन वेबसाइट के जरिये नहीं होते है| और mnre अपनी कसी भी website के माध्यम से योजना के तहत लाभार्थियों को पंजीकृत नही करता है

अगर आपने ऑनलाइन आवेदन कर दिया है तो आपका डेटा आपने अपने हाथों से चोरो को दे दिया है| यहाँ तक कि बहुत सारे किसानो ने 10% पैसा भी दे दिया है, वह सब फर्जीवाड़ा है, आपका पैसा फर्जीवाड़े में चला गया | आपको कोई सोलर भी नही मिलने वाला है| आइये कुछ फर्जी वेबसाइट्स डोमेन नाम .org, .in, .com से पंजीकृत है जैसेकि फर्जी वेबसाइट इन्हें ओपन न करे www.kusumyojanaonline.in.net, www.pmkisankusumyojana.co.in, www.onlinekusamyojana.org.in, www.pmkisankusumyojana.com और इसी तरह की कई अन्य वेबसाइट हैं

कुसुम योजना की अधिकारिक वेबसाइट की पहचान

किसान साथियों किसी भी सरकारी योजना की website पर सिर्फ आवेदन का पोर्टल नही होता है वहा पर सारी जानकारी विस्तृत दी हुई होती है कुछ सरकारी website की पहचान डोमेन को देखकर पता लगा सकते है

www._____.gov.in

यहाँ पर आप इस योजना की विस्तृत जानकारी विभाग की मुख्य अधिकारिक वेबसाइट Ministry of New & Renewable Energy – Government of India (mnre.gov.in) या https://energy.rajasthan.gov.in/ पर जाकर ले सकते है

कैसे होता है इस योजना में फर्जीवाडा

किसान साथियों चाहे कुसुम योजना हो चाहे और कोई भी सरकारी योजना हो, आप जल्दबाजी न करे| अन्यथा हडबडाहट में आप अपना नुकसान करेंगे| सबसे पहले सोचे समझे और चार लोगो से राय ले, सलाह मशवरा करे| तथा सरकारी विभाग से सम्पर्क करे नही तो आपके साथ भी फर्जीवाडा हो सकता है

सबसे पहले यह फ्रोड लोग योजना से मिलती जुलती वेबसाइट बनाते है जिस पर आवेदन का पोर्टल बना देते है भोले भाले किसान साथी इस वेबसाइट पर जाकर सब्सिडी या फायदे के चक्कर में आवेदन कर देते है जिसमे आपसे यहाँ पर आपका नाम , पूरा पता, मोबाइल नंबर व आधार कार्ड जेसी कई सारी व्यक्तिगत जानकारिया मांगी जाती है और आप अपने हाथो से ख़ुशी – खुशी दे देते है

कुछ दिनों के बाद आपको एक कॉल आता है की आपका आवेदन स्वीकार कर लिया गया है और रजिस्टर शुल्क 7500 रुपये की DD जमा करानी होगी इसके साथ ही आपको एक अप्रूवल लेटर भी ईमेल के जरिये भेजते है आप यह सुनकर इतने बेबस हो जाते है की आपको बस अब सोलर मिल जायंगे !

फर्जी अप्रूवल लैटर

थोड़े दिनों के बाद आपसे 10 % पैसा 70000 रु का डिमांड ड्राफ्ट के लिए बोला जाता है और यहाँ पर भी आप ख़ुशी के साथ पैसे दे देते है क्योकि आपको विश्वास है की सोलर पैनल जरुर मिलने वाले है आपको यह लोग बोलते है की जल्द ही आपके पास आपका सोलर पंप सिस्टम हमारी टीम लेकर पहुंचेगी लेकिन होता यह है अंत में की आपको कई महीने बित जाने के बाद भी सिस्टम नही मिलता है

आपका सारा पैसा फर्जीवाड़ा में चला गया है अब आपको सोलर पंप सिस्टम नही मिलने वाला है हमेशा सही से जानकरी लेकर ही किसी भी योजना में आवेदन करे अन्यथा लोग फर्जीवाड़ा करने में देर नही करते है

अधिक जानकरी के लिए विडियो देखे

निष्कर्ष

निष्कर्ष यही निकलता है कि कही से भी इनफार्मेशन ले रहे हो, पहले वेरीफाई कर लीजिये चाहे वह किसी भी सोसियल प्लेटफार्म पर दिखाई देवे | कई बार व्यूज के लालच में गलत इनफार्मेशन भी दे देते है| इस प्रकार की जानकरी को फेलाने वालो से हमारा अनुरोध है, कि आप पहले इसके बारे में रिसर्च करे| इसमें किसी का नुकसान हो सकता है !!

योजना में भागीदारी के लिए पात्रता और कार्यान्वयन प्रक्रिया से सम्बन्धित जानकारी mnre की website Ministry of New & Renewable Energy – Government of India (mnre.gov.in) पर उपलब्ध है इच्छुक लोग mnre की वेबसाइट पर जा सकते है या टोल फ्री नंबर 1800-180-3333 पर कॉल कर सकते है !!

सावधान रहे, सतर्क रहे , टेक मेवाड़ी टीम हमेशा आपके साथ है

लेखक – गमेर सिंह राणावत

यह भी पड़े

घर के लिए सोलर,इन्वर्टर, बैटरी कितना चाहिए !! Required Solar Panel for home !!

घर पर शुद्ध ऑर्गेनिक तेल निकालने की घाणी, निकाल सकते है 12 से भी ज्यादा तिलहनी फसलो का तेल

सौर उर्जा कृषि पंप के 10 फायदे

खेती के लिए सोलर तकनिकी केसे आई जाने टेक मेवाड़ी के साथ !!

मोनोक्रिस्टलाइन (Monocrystalline) Vs पॉलीक्रिस्टलाइन (Polycrystalline)

घर के लिए सोलर सिस्टम में क्या क्या खरीदना जरुरी होता है

सोलर सिस्टम क्या होता है जाने टेक मेवाड़ी के साथ ? what is solar system ? ?

2 किलोवाट AC मोड्यूल सोलर सिस्टम से चलाये AC, गीजर, कूलर, चक्की, पानी पंप एव घर का पूरा लोड कैसे ? जाने टेक मेवाड़ी के साथ

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: