गिलोय का आयुर्वेदिक काढ़ा घर बेठे बनाये और बचे कोरोना, निमोनिया जैसी कई सारी बीमारियों से

Giloy Kadha recipe for corona in hindi

आज पूरी दुनिया में बीमारी का आतंक छाया हुआ है जहा देखो वहा त्राहिमाम मचा रखा है !! इन्सान ऑक्सीजन की कमी से मर रहे है ऐसे में कही सारे चिकित्सक भगवान के रूप धारण क्र लोगो की सेवा कर रहे है और इस बीमारी के भ्रम को दूर करने के लिए विश्वास डायल रहे है तो कही सारे ओक्सिजन सिलेंडर दान कर रहे है !! ऐसे में टेक मेवाड़ी आपके लिए कुछ पुराने बुजर्गो द्वारा बताये गए नुस्के जो न सिर्फ इंफेक्शन से लड़ने में मदद करते हैं कि बल्कि आपके शरीर को अंदर से मजबूत भी बनाते है !! आइये देखते है बुजर्गो के द्वारा बताया गया गिलोय (गरवेल की लता ) का काढ़ा किस प्रकार इस कोरोना काल में फायदेमंद साबित हो रहा है

आओ सीखे केसे बनता है गिलोय का काढ़ा

यहाँ आपको 5 गिलास काढ़ा बनाना सिखाया जा रहा है !!

आवश्यक सामग्री

1. पानी 12 गिलास

2. गिलोय के टुकड़े 10 – 12

गिलोय जिसे अमृता बेल भी कहा जाता है यह आपको साल भर में कही भी मिल जाएगी अधिकतर यह निम के पेड़ो पर मिलती है जो एक लता (बेल) के रूप में चलती है !!

3 . तुलसी के पत्ते 8-10

आपको जिस तुलसा की पूजा की जाती हे उनके पत्ते लेने है

4 . लोंग 5-7

5. काली मिर्च 5-7

6. दाल चीनी 4-5

7 . बड़ी इलायची 2-3

8. हरी इलायची 3-5

9. हल्दी गांठ 2-3 (बाद में पिसाई कीजिये ) आपको देशी हल्दी कम में लेनी है

10. देशी गूढ़ आवश्यकतानुसार

11. शुद्ध प्राक्रतिक शहद 25 ग्राम

12. निम की छाल या पत्ते 3-5

13. पीपल की छाल या पत्ते 3-5

14. काला नमक आवश्यकतानुसार

15 . नामे जडीबुटी 3- 5

16 . अदरक या सोंठ (कुटा हुआ)

विधि

  1. सबसे पहले गिलोय व अदरक के छोटे – छोटे टुकड़े कर दीजिये हो सके तो कूटकर कद्दूकस कर दीजिए , हल्दी पिस लीजिये, लोंग, कालीमिर्च, दालचीनी, इलायची इन्हें भी मोटा – मोटा पिस लीजिये !!
  2. एक बर्तन में 12 से 15 गिलास पानी लीजिये और इसे तेज आंच पर उबालिए अब इसमें गिलोय के टुकड़े या कदुकस किये गए को डालिए और 10 % पानी कम हो तब तक उबालिए
  3. अब आप इसमें अदरक, गरम मसाला, तुलसी के पत्ते, निम के पत्ते, पीपल, नामे सारा मिश्रण, काला नमक, गूढ़, शहद, हल्दी सभी डालिए और 50 से 60 % पानी कम हो तब तक उबालिए
  4. अच्छी तरह उबलने के बाद छान लीजिये यह तैयार है और्वेदिक काढ़ा

किसको कितना पीना चाहिए

  1. वेसे तो शत प्रतिशत आयुर्वेदिक होता है इसलिए इसे कोई भी पि सकता है लेकिन कुछ सवाधिनिया रखनी जरुरी है
  2. आप इसे पहले 3 दिन तक 1 कप सुबह खाली पेट या सोते समय लीजिए उसके बाद आप सप्ताह में दो बार लीजिये अपने शरीर पर छुट के अनुसार आप ले सकते है !!
  3. इसमें गर्मी ज्यादा होने की वजह से गर्भवती महिला प्रारम्भिक अवस्था में हो नही लेना चाहिए यदि बीमार है तो आप कम मात्रा में पिलाये !!
  4. इस काढ़ा को सवास्थ आदमी भी पि सकता है

नोट :- इसमें दी गयी सामग्री में कुछ जड़ी बूटी नही अपलब्ध होतो बाकि जो मिले आप उससे भी बना सकते है

काढ़ा के आलावा कर सकते है यह काम बचेंगे कोरोना से

  1. सुबह उठकर हल्का गर्म गुनगुना पानी पिए
  2. हल्दी वाला गर्म दूध पीजिये
  3. सुबह खली पेट अंकुरित चने लीजिये
  4. हमेशा हरी सब्जी, दाले, लीजिये
  5. पपीता आदि फलो का नित्य सेवन

100 बात की एक बात अगर आपके शरीर में कमजोरी है आप खाना भरपूर समय से नही खाते है पानी बराबर नहीं पिते है तो आपके उपर निश्चित ही बीमारिया आक्रमण करेगी अन्यथा किसी रोग की हिम्मत नहीं है !!

मास्क लगाये, बिना काम घर से बाहर नही जाये, 2 गज की दुरी से बात करे,

काढ़े की अधिक जानकारी के लिए देखे यह विडियो

मुझे आशा है की यह पोस्ट आप सभी को पसंद आई होगी 1 बार जरुर अपनाये मेने स्वयम अपनाया है पुरे गाँव वाले को पिलाया है कही सारे ने अपनाया है आप इसे शेयर जरुर करे !! धन्यवाद !!

लेखक गमेर सिंह राणावत

2 Comments

  1. You commit an error. I suggest it to discuss. Write to me in PM.

  2. Jitendra Singh Mouryasays:

    Aapka yah kary saharniy he.. Thank you for sharing this valuable information..

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: