You are currently viewing बैटरी की झंझट ख़तम बिना बैटरी इन्वर्टर पर ही चलाओ पूरा घर का लोड

बैटरी की झंझट ख़तम बिना बैटरी इन्वर्टर पर ही चलाओ पूरा घर का लोड

ELECTROWER कम्पनी 1 K VA लिथियम PCU: बिना बैटरी बिना बिजली बिना मेंटनेंस चलाए घर का पूरा लोड: 2022

Lithium PCU – electrower.com

दोस्तों, हम में से काफी लोग जब सोलर इन्वर्टर या सोलर सिस्टम का कही भी इंस्टालेशन देखते है तो वहां पर काफी कॉमन सी चीज देखने को मिल जाती है | हर सोलर इनवर्टर के साथ एक बड़ी भारी भरकम बैटरी हमें वहाँ पर देखने को मिलती है जिसमे हर 2 से 3 महीने में हमे पानी भरना पड़ता है | तथा इसका मेंटेनेंस भी काफी आता है | इस चीज को देखते हुए काफी सारे लोग इन सिस्टम को खरीदते नहीं है कि एक बार खरीद लेंगे तो मेंटेनेन्स का सिरदर्द हमेशा के लिए बन जायेगा | 

लेकिन यह झंझट अब नहीं होने वाली है क्योकि आज के इस आर्टिकल में हम एक ऐसे एडवांस तथा लेटेस्ट टेक्नोलॉजी के प्रोडक्ट के बारे में बात करने वाले है जिसे लगाने के बाद आप घर, ऑफिस, दुकान तथा अन्य सभी जगहों के आपके सारे उपकरण आसानी से चला सकते है, वो बिना किसी मेंटेनेंस की टेशन के साथ आप इसे चला सकते है |

ELECTROWER  1KVA लिथियम PCU का ओवरव्यू

                                                                                            यदि इसके फिजिकल ओवरव्यू की बात करे तो हमें यहाँ एक सिंपल तथा ऑथेंटिक लुक इस PCU का मिल जाता है | 

इसके टॉप साइड में हमें यहाँ पर हमें कण्ट्रोल पैनल मिलता है जिसमे एक डिजिटल डिस्प्ले तथा अन्य स्पेसिफ़िकेशंस मिलते है | जिसके बारे में हम आगे बात करने वाले है | 

इसके बॉटम साइड में हमें लिथियम PCU तथा ELECTROWER कम्पनी की ब्राडिंग देखने को मिल जाती है | 

यदि इसके लेफ्ट साइड की बात करे तो इसके उपर की तरफ हमें एक आउटपुट के लिए पोर्ट मिल जाता है, जिससे आप अपने घर के सारे उपकरण चला सकते है | इसके बाद हमें यहाँ पर एक मैन्स का वायर मिल जाता है, जिसकी मदद से हम बैटरी को हम अगर ग्रीड से चार्ज करना चाहते है तो हमें वो यहाँ पर सुविधा मिलती है | 

इसके बाद में यहाँ पर AC फ्यूज लगा हुआ है मान लीजिये किसी भी कारण से शोर्ट सर्किट होता है तो यहाँ पर कोई भी चीज ख़राब नहीं होगी सिर्फ फ्यूज ख़राब होगा जिसे आप कम्पनी के द्वारा दिए गए एक्स्ट्रा फ्यूज से चेंज कर सकते है | 

इसके बाद आपको यहाँ पर कम्युनिकेशन का पोर्ट मिल जाता है जिससे आप इस PCU में क्लाउड मोनिटरिंग कर सकते है | इसके बाद यहाँ पर आपको एक फेन मिलता है तथा इसके निचे बैटरी की स्पेसिफिकेशन दी हुई होती है | जिसमे यह बतया गया है कि जैसे बैटरी 48 वोल्ट की है तथा इन्वर्टर के पैरामीटर दिए हुए होते है | 

इस PCU का बेक साइड बिलकुल प्लेन है जिसमे कोई पोर्ट नहीं होता है क्योकि इसमें लिथियम बैटरी है जिससे इसका वजन काफी कम है | जिससे इसे दीवार पर आसानी से माउंट किया जा सकता है तथा इसके लिए कम्पनी साथ में हमें एसेसिरिज प्रदान करती है | 

यदि इसके राईट साइड की बात करे तो इसके टॉप साइड में हमें एक टेक्निकल स्टीकर मिलता है जिसमे कुछ बेसिक डिटेल मिलती है जैसे इस PCU का मॉडल नंबर तथा PCU का वजन तथा सीरयल नंबर तथा लास्ट में मेड इन इण्डिया का लोगो भी मिल जाता है | इसके बाद में इसे स्टार्ट करने की पूरी प्रोसेस बताई गयी है | इसके बाद में इसे रीस्टार्ट करने का बटन मिल जाता है | 

इसके बाद में यहाँ पर हमें सोलर पैनल को कनेक्ट करने का आप्शन मिल जाता है | इसके साथ में ही बैटरी की MCB भी यहाँ पर लगी हुई है | साथ यहाँ एक और कुलिंग फैन भी मिल जाता है |  

 PCU की टेक्निकल डिटेल्स :- 

                           यह ELECTROWER कम्पनी का 1 KVA 48 V PURE SINE WAVE सोलर लिथियम PCU है | यह प्रोडक्ट लेटेस्ट टेक्नोलॉजी के साथ बना है जिसके सभी कॉम्पोनेन्ट हाइली एफ्फिसियेंट है | इसमें MPPT चार्ज कंट्रोलर को काम में लिए गया है | 

यह PCU 72 से 180 वोल्ट VOC तक के सोलर पैनल को सपोर्ट करता है | 

जिससे किसी भी टेक्नोलॉजी के  1 किलो वाट तक के सोलर पैनल्स को सीरिज में जोड़ कर आप इस पर चला सकते है | इस सोलर PCU पर अधिकतम 800 वाट का लोड चला सकते है | 

इसमें 24 Ah की 48 V की लिथियम फॉस्फेट बैटरी को काम में लिया गया है | जिसका हमें 150 Ah की लेड एसिड बैटरी के बराबर बेकअप मिल जाता है | इस PCU हमें फ़ास्ट चार्जिंग मिल जाती है यानि 1 घंटे में 70 % इसकी बैटरी चार्ज हो जाती है | 

इंस्टालेशन प्रोसेस या इसे कैसे इनस्टॉल करना है | 

                                                                           इसकी इंस्टालेशन प्रोसेस हमें इस PCU के राईट साइड में दी गई है जिसमे बताया गया है कि इस PCU सोलर पैनल या ग्रीड से कनेक्ट कर रहे है तो आप बैटरी की MCB को चालू करने से पहले कर दीजिये | इसके बाद में आपको रिसेट बटन को 5 सेकंड तक दबा के रखना है | इसके बाद आपको बैटरी की MCB को ओन करना है जिससे यह PCU ओन हो जायेगा तथा फ्रंट साइड की डिस्प्ले में सारी डिटेल्स दिखने लगेगी |  

इस डिस्प्ले में सोलर पैनल कितना प्रोडक्शन कर रहा, बैटरी कितनी चार्ज, कोनसा मोड है सभी डिटेल्स आपको मिल जाती है | 

इसके बाद आप इसके ओन ऑफ़ बटन को दबा कर इसे ओंन कर दीजिये | इसके बाद डिस्प्ले के निचे के साइड में कुछ इंडिकेटर मिलते है जिसमे UPS,  चार्जिंग, बैटरी लो, मैन्स का, तथा ओवरलोड का इंडिकेटर आपको मिल जाता है | 

इसके बाद आपको यहाँ कुछ बटन मिलते है जो डिस्प्ले के मेनू को कंट्रोल करने काम आते है | जिसमे चार बटन आपको मिलते है जिसमे एक बटन बेक साइड के लिए, एक बटन डाउन साइड के लिए, एक बटन अप साइड के लिए, तथा एक बटन किसी भी चीज में इंटर करने के तथा किसी भी मेनू को ओपन करने के तथा सेलेक्ट करने के लिए मिल जाता है | 

डिस्प्ले स्पेसिफ़िकेशंस 

                                  इसके इंटर बटन को दबाते ही आपको डिस्प्ले में सबसे पहले व्यू लॉग्स का ऑप्शन मिल जाता है जिसमे आपका PCU कब स्टार्ट हुआ है तथा बाकि सभी सारी चीजे आपको दिखाई देती है | 

वापस बेक के बटन को दबाते है तो सेटिंग्स के आप्शन में जाते है | इसके अन्दर आपको कोनसा प्रोयर्टी मोड सेलेक्ट करना है जैसे हाइब्रिड मोड, स्मार्ट मोड, PCU मोड आदि मिल जाते है | 

अगर आप हाइब्रिड मोड सेलेक्ट करते है तो यह सिस्टम को पहले सोलर से तथा फिर ग्रीड से तथा बैटरी से चलता है |

अगर आप PCU मोड सेलेक्ट करते है सोलर,  बैटरी तथा सबसे लास्ट में ग्रीड को प्रयोर्टी मिलती है | 

अगर आप स्मार्ट मोड सेलेक्ट करते है  यह दिन में PCU मोड को काम में लेगा तथा रात में यह हाइब्रिड मोड को काम में लेगा | 

इसके बाद में ग्रीड से आप इसे चार्ज करना चाहते है या नहीं, इसे  भी आप इनेबल तह डिसेबल कर सकते है | 

इसके बाद आपको इन्वर्टर या UPS मोड मिलता है | अगर आप कंप्यूटर या मोबाइल से इसे चलाते है तो आपको UPS आईटी मोड को ओन रखना है | 

इसके बाद में यहाँ पर फ्रीक्वेंसी दी गई है जिसमे भारत में अगर आप इसे चलाते है तो आपको 50 HZ ही सेलेक्ट करके रखना है, भारत से बाहर आपको 60 HZ सेलेक्ट करना है | 

इसके बाद आपको इसमें बैटरी सिलेक्शन के आप्शन मिलते है  जिनकी अभी कोई जरुरत नहीं है क्योकि इसमें पहले से बैटरी लगी हुई है | इसमें आप्चार्गिंग वोल्टेज तथा चार्जिंग करंट को भी सेट कर सकते है |   

इसके बाद में आपको इसमें एडवांस सेटिंग का आप्शन भी मिलता है जिसमे आप इसे जनरेटर के उपर भी चला सकते है तथा अगर आपसे कोई सेटिंग गलत हो गई हो तो आप रिसेट आल सेटिंग के आप्शन पर क्लिक करके सिस्टम की पूरी सेटिंग को डिफ़ॉल्ट कंडीशन में ला सकते है | 

इसके बाद आप एग्जिट करके बाहर आ सकते है | 

लोड टेस्टिंग की हकीकत !  

                                         इसके लिए हम एक एक्सटेंशन बोर्ड लेंगे और इसे कनेक्ट कर देते है | इस पर सबसे पहले बेसिक लोड जैसे ट्यूब लाइट, मोबाइल चार्ज तथा एक मिक्सर ग्राइंडर को चलाते है तो वे आसानी से चल जाते है | 

इसके बाद हम इस पर एक हेवी लोड जैसे 1400 वाट का आयरन चलाते है तो इसमें से ओवरलोड का अलार्म बज जाता है | लेकिन फिर भी ये उस आयरन को कुछ देर तक चलाता है तथा कुछ देर बाद इसे बंद कर देता है | 

आप इस पर 0.5 hp सब मर्सिबल

इसका बेनिफिट हमें तब मिलता है जब हम कोई पानी की मोटर या AC चलाते हैं तो इसमें इंस्टेंट करंट की जरुरत पड़ती है जिसमे ये सोलर PCU परफेक्ट रहता है | क्योकि यह पूरी तरह से प्योर कोपर BINDED ट्रांसफार्मर से मिल कर बना होता है |  

यह PCU 1000 VA का है लेकिन कम्पनी के पास 1000 से 5000 VA तक सोलर लिथियम PCU है जो आप अपनी जरुरत के हिसाब से सेलेक्ट कर सकते है | 

इस सोलर PCU के फीचर्स क्या क्या है ? 

                                                                 इसमें फ़ास्ट चार्जिंग का सपोर्ट मिल जाता है यानि आप किसी एक ऐसी जगह पर रहते है जहाँ पर बिजली बहुत कम समय के लिए आती है तो यह PCU बहुत कम समय में बैटरी को चार्ज कर लेगा | जिससे आप पुरे दिन भर अपना लोड चला सकते है |  वही अगर आप नार्मल इन्वर्टर बैटरी को काम में लेते है तो आपको 6 से 10 घंटे का भी समय लग जाता है | 

इसका दूसरा फीचर यह है कि इसका जीरो मेंटेनेंस है यानि की अगर आप इसे खरीदते है तो इसके बाद इसमें किसी भी प्रकार के खर्च की जरुरत नही है |

इसका तीसरा फीचर यह है कि यह PCU प्लग एंड प्ले है यानि इसे आप डायरेक्ट ग्रीड तथा सोलर से जोड़कर अपने घर का लोड चला सकते है | 

यह सिस्टम बिलकुल इको फ्रेंडली है यानि यह सिस्टम बिलकुल भी पर्यावरण के लिए हानिकारक नहीं है | 

जब भी हम लेड एसिड बैटरी को चार्ज करते है त उसमे से काफी सारी हानिकारक गैस निकलती है लेकिन इस सिस्टम में ऐसा नहीं है | इसमें लिथियम आयन फॉस्फेट बैटरी को काम में लिया गया है जिन्हें चार्ज करते वक़्त किसी  भी प्रकार की हानिकारक गैस नही निकलती है | 

इसका पांचवा बेनिफिट यह है कि यह वज़न में हल्का तथा छोटा है | इसी साइज़ के अगर आप इन्वर्टर या बैटरी खरीदेंगे तो उस प्रोडक्ट वज़न इससे डबल होगा | 

इसका लास्ट बेनिफिट यह है कि जहाँ हमारे नार्मल इन्वर्टर बैटरी की लाइफ 5 से 7 साल होती है वही इस लिथियम PCU लाइफ 10 से 15 साल तक है | यानि यह लॉन्ग लाइफ का प्रोडक्ट है | 

अगर आपको यह जानकारी पसंद आई है तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करें, धन्यवाद | 

टेक मेवाड़ी

हमारा लक्ष्य आप तक सौर उर्जा, आटा चक्की, मशीनरी एव खेती किसानी की जानकारी हिंदी भाषा में पहुंचना

This Post Has One Comment

  1. Vishnu Kumar Sharma

    Please contact me.I want 1kw solar system

Leave a Reply