CELLCRONIC 50 KW इन्वर्टर: GALAXY 6G EU 50 KW हाइब्रिड इन्वर्टर पूरी फैक्ट्री चलाओ अब बिना बिजली

साथियों, आज हम आपके लिए कुछ खास लेकर आये है | आज हम आपको CELLCRONIC कम्पनी के GALAXY 6G हाइब्रिड इन्वर्टर के बारे में बताने वाले है, जो की इसकी गैलेक्सी सीरिज के अन्दर आता है | जो इसकी सबसे प्रीमियम सीरिज के अन्दर आती है | यानि यह बहुत हाई क्वालिटी के माध्यम से बना हुआ इन्वर्टर है  | इस इन्वर्टर में हम आपको आज कुल पांच इन्वर्टर के बारे में बताने वाले है | जो निचे दिए गए है | इसके बाद हम इस इन्वर्टर से जुड़े कई सारे सवालो के बारे में भी जानेंगे | 

3 KW HYBRID इन्वर्टर 

                                                       इसमें से जो सबसे पहला इन्वर्टर है वो है गैलेक्सी 6G 3 KW  हाइब्रिड इन्वर्टर जो, दो बैटरी के साथ आता है | इसके अलावा कोई भी हाइब्रिड इन्वर्टर दो बैटरी के साथ नहीं आता है | 

GALAXY 6G 5 KW/ 48 V

                                        यह 48 V के अन्दर आता है | इसके बाद  हमारे जितने भी इन्वर्टर है वो 48 V के उपर डिजाईन है | यानि ये सारे इन्वर्टर लो बैटरी के उपर डिजाइन है | यानि इसके बाद वाले सारे बड़े इन्वर्टर में आपको चार बैटरी की जरुरत पड़ने वाली है |

CELLCRONIC 50 KW इन्वर्टर: GALAXY 6G EU 50 KW
CELLCRONIC

क्या आप इस इन्वर्टर को बिना बैटरी के यूज़ कर सकते है ? 

                                                                                         काफी सारे लोगो का हमारे पास हमेशा यही सवाल आता है क्या इन्वर्टर पर बैटरी नहीं लगायेंगे तो क्या यह काम नहीं करेगा | तो जवाब है यह इन्वर्टर बिना बैटरी के काम नहीं करने वाला है क्योकि इस इन्वर्टर की सोफ्टवेयर टेक्नोलॉजी को पूरी तरह से बदल दिया गया है | अगर आप बैटरी नहीं लगायेंगे तो इन्वर्टर नार्मल कंडीशन में नहीं आएगा | यानि इन्वर्टर स्टार्ट ही नहीं  होगा |  इसके उपर आपको बैटरी लगाना आवश्यक है | 

इस इन्वर्टर के उपर आप कितने सोलर पैनल लगा सकते हैं ?

                                                                                                   इस टेक्नोलॉजी के उपर आप जितने किलो वाट का इन्वर्टर है उससे ज्यादा केपिसिटी के सोलर पैनल लगा सकते है |  इसका मुख्य कारण यह है कि आपने यह देखा होगा कि कभी भी सोलर से हमे पूरी क्षमता की बिजली प्राप्त नहीं होती है | जितने किलोवाट क सोलर पैनल होता है उसकी 80 से 90 % बिजली ही प्राप्त होती है |  इसलिए हमें जितने किलोवाट का इन्वर्टर है उससे ज्यादा केपिसिटी के ही सोलर पैनल लगाने पड़ते है | 

यानि आपको 3 KW इन्वर्टर के उपर 4 KW सोलर पैनल, इसी तरह 5 KW के साथ 6.5 KW, 8 KW के उपर 10.5  KW, तथा 10 KW के साथ आपको 13 KW के सोलर पैनल लगाने पड़ेंगे | 

इस इन्वर्टर के लिए आपको नेट मीटरिंग करवानी होगी या नही  ?

                                                                                                     जैसा कि हमने आपको पहले बताया है कि यह हाइब्रिड इन्वर्टर है यानि यह इन्वर्टर ओन ग्रीड तथा ऑफ ग्रीड दोनों इन्वर्टर का काम एक साथ ही कर सके | यानि यह इन्वर्टर आपके यहाँ नेट मीटरिंग नहीं है तो भी यह आपके घर के सिस्टम को सोलर से चलाएगा क्योकि सोलर फ्री होता है |  अगर हम एक उदहारण से समझे तो अगर आपके यहाँ अगर 3 AC है जिनमे से 2 आपने इन्वर्टर पर डाल दिए तथा एक आपने बिजली पर डाला है तो इसमें आपको एक सिटी सेंसर मिलता है जिससे यह आपके तीसरे बिजली से चलने वाले AC को भी यह सोलर से ही चलाएगा क्योकि  यह वापस बिजली आपके घर में ही पहुंचा देता है | जिससे आप इसे नेट मीटर की ही तरह आप इसे पहले दिन से ही यूज़ कर सकते है | वो भी आप इसे बिना नेट मीटरिंग के यूज़ कर सकते है | 

बिना बैटरी बिना Net Meter चलाओ, ओन ग्रिड सोलर सिस्टम :  CELLCRONIC 6 G 5 Kw Grid Tie Inverter

इस इन्वर्टर पर आप  कितना हेवी लोड चला सकते है ?

                                                                                    मार्केट में पुराणी टेक्नोलॉजी के इन्वर्टर होते है वो पुरानी टेक्नोलॉजी के है तथा वे ट्रांसफार्मर काम करते है तथा KVA में आते है | तथा अगर जैसे 3500 KVA का इन्वर्टर है तो वह 2700 किलो वाट लोड ही देता है यानि उनमे पॉवर फेक्टर काफी कम होता है | लेकिन इस इन्वर्टर में पॉवर फेक्टर 1 होता है | यानि अगर यह 5 किलो वाट का इन्वर्टर है तो यह 5 KW का लोड उठाता है | यानि जितने केवीए का इन्वर्टर है तो यह उतना ही लोड उठाता है बल्कि उससे 10 % ज्यादा ही उठाता है | यानि अगर उम इसमें 3 KW के इन्वर्टर की बात करे तो यह 3300 वाट तक लोड चलाता है | 

इसमें खास बात आपको यह लगेगी कि अगर मार्केट 12 kw का इन्वर्टर आता है तो यह 4, 4, तथा 4 तीन फेज में 12 kw लोड चलाता है लेकिन यह इन्वर्टर आपको किसी भी फेज में आधा लोड चला कर देता है | यानि 6+6 = 12 kw | यानि यह टेक्नोलॉजी आपको कही और देखने को नहीं मिलती है | 

इस इन्वर्टर पर आप कौनसी व कितनी बैटरी लगा सकते है ?

                                                                            मार्केट में कई तरह की बैटरी उपलब्ध है जैसे टेल ट्युब्लर बैटरी, लिथियम आयन बैटरी, जेल बैटरी, आदि | इनमे लिथियम आयन बैटरी सबसे बेस्ट मानी जाती है | यह इन्वर्टर हर एक तरीके की बैटरी को सपोर्ट करता है | लेकिन अगर आप महंगे तथा लेटेस्ट टेक्नोलॉजी वाले सामान से पूरा प्रोडक्शन लेना चाहते है तो आपको बैटरी भी लेटेस्ट टेक्नोलॉजी की ही लगानी पड़ेगी |  इसमें आपको कम से कम एक inverter पर 4 बैटरी लगनी अनिवार्य होती है और अधिकतम आप इस पर 48 बैटरी लगा सकते है !!

20 Kw cellcronic galaxy inverter

और दूसरी बात यह है की इस टेक्नोलॉजी में बैटरी तथा इन्वर्टर के बिच कम्युनिकेशन प्रोटोकोल होते है | जो की BMS के माध्यम से सपोर्ट करते है | तो आपको इसमें BMS सिस्टम तो लगाना ही पड़ेगा | 

CELLCRONIC इन्वर्टर के फिचर्स क्या क्या है ?

                                                                      इस इन्वर्टर की खास बात यह है की आप इस इन्वर्टर के साथ एक साथ 16 इन्वर्टर को एक साथ पेरेलल जोड़ सकते है | यानि अगर आप सोलर पैनल बढ़ाते है तो आप उसी तरह 16 इन्वर्टर एक साथ जोड़ सकते है | वो भी सिंगल फेज में भी  तथा थ्री फेज में भी | 

इसके साथ ही इस इन्वर्टर में आपको सोलरमेन कम्पनी का वाई फाई सिस्टम भी मिल जाता है | जिसमे आप अपने इन्वर्टर में पिछले 20 साल तक का डाटा देख सकते है | कि आपने इस दिन इतनी बिजली उपभग की, इस दिन इतनी बिजली सोलर से आई, कितनी बैटरी के अन्दर गई आदि | इसके साथ ही छोटी से छोटी चीज ग्राफ के थ्रू भी यह आपको एनालाइज कर के देता है की आपके घर में कितनी बिजली बनी है | तथा कम बनी है या ज्यादा बनी है | तो ये सब आप डाटा अपने मोबाइल फ़ोन में ही देख सकते है | 

यह इन्वर्टर अपडेट भी होता है ?

                                                जी हाँ, दोस्तों आप सही सुन रहे है, आपके मोबाइल की ही तरह यह इन्वर्टर भी अपडेट होता है | अगर आपका इन्वर्टर ऑनलाइन है तो कम्पनी सोफ्टवेयर के थ्रू आपके इन्वर्टर आपके घर पर ही अपडेट कर सकती है | चाहे आप दुनिया में कही भी बेठे हो | 

इस इन्वर्टर की वारंटी क्या है ? 

                                                    अगर आप मार्केट दुसरे किसी भी इन्वर्टर को देखते है तो उसमे आपको 2 साल की ही वारंटी मिलती है | उसमे भी वो कई बार ख़राब हो जाते है | लेकिन आपको इस इन्वर्टर में ओन ग्रीड की ही तरह 5 साल की स्टैण्डर्ड वारंटी मिल जाती है | तथा यह टेक्नोलॉजी ख़राब भी नहीं होती है | इस इन्वर्टर की वारंटी आप 5 साल और एक्सटेंड करवा सकते है | इस इन्वर्टर के पार्ट्स इतने अच्छी क्वालिटी के है की ये 25 साल तक भी ख़राब नहीं होंते है | 

इस इन्वर्टर की कीमत कितनी है ?

                                                     अगर आप इसे ऑनलाइन  खरीदना चाहते है तो आप इस कम्पनी की वेबसाइट WWW.CELLCRONIC.COM को भी विजिट कर सकते है | वहां पर आपको हर एक इन्वर्टर की कीमत पता चल जाएगी |

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो आप इसे अधिक से अधिक शेयर करे ताकि अन्य लोगो तक भी पहुंचे , धन्यवाद |  


1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: